राम जैसवाल का जीवन परिचय(ram jaiswal)

राम जैसवाल

राम जैसवाल का जीवन परिचय(ram jaiswal) – चित्रकार राम जैसवाल का जन्म उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले के सादाबाद में हुआ था। ये कला की शिक्षा ग्रहण करने के पश्चात् लखनऊ के गवर्नमेन्ट कालेज ऑफ आर्ट एण्ड क्राफ्ट्स में कलाकार के रूप में कार्य करने लगे। प्रारम्भ में उनका जीवन लखनऊ तथा मेरठ में व्यतीत हुआ।

1964 ई. में इन्होंने अजमेर आकर दयानन्द कालेज में कला प्राध्यापक पद पर कार्य करना प्रारम्भ कर दिया। इन्होंने कला शिक्षा में कई युवा चित्रकारों को पारंगत किया। इनका संपर्क असित कुमार हलदर, खास्तागीर, श्रीधर महापात्र एवं सुधीर रंजन जैसे चित्रकारों से रहा। इनके कला जीवन के प्रारम्भ में समस्त भारत में पुनर्जागरण कालीन कला तथा पौराणिक विषयों पर आधारित वॉश तकनीक चित्रण अधिक प्रचलन में थी।

आपके चित्रों पर भी इसका प्रभाव पड़ा। आपने वॉश तकनीक में जो चित्र बनाये उनमें परम्परागत विषयों की आध्यात्मिक व काल्पनिक झलक दिखाई पड़ती है। आपके उल्लेखनीय चित्रों में वियोगी, बंदी, अतीत आदि विशेष हैं। वेट टू वेट तकनीक से जल रंगों द्वारा प्रकृति चित्रण अद्वितीय रहा है।

इन चित्रों में गोमती के तट, रेजीडेन्सी, वियोगी शिव आदि चित्र प्रमुख हैं। उनके चित्रों में जल रंग अधिक देखने को मिलते हैं। उन्होंने जल रंग के साथ-साथ टेम्परा में भी कार्य किया।उनकेचित्रों में स्ट्रीट सिंगर, प्रणय, आंगन की दोपहरी, पूजा का दिन आदि प्रसिद्ध चित्र हैं। उन्होंने विषमताओं तथा त्रासदी से प्रभावित होकर चित्र रचना की।

राम जैसवाल का जीवन परिचय(ram jaiswal)

 

 

 

 

Spread the love