संचार के प्रकार (Types of communication)

संचार के प्रकार  Types of communication

संचार के प्रकार(Types of communication) –  संचार के प्रकार(Types of communication) इंटरनेट की सबसे लोकप्रिय गतिविधियां है जिसका प्रभाव  असीमित है व्यक्तिगत स्तर पर इंटरनेट के द्वारा आप हजारों मील दूर  रहने पर भी अपने दोस्तों या परिवार के साथ संपर्क रख सकते हैं व्यवसायिक स्तर पर इलेक्ट्रॉनिक संचार आज के युग का मापदंड बन चुका है जिसके जरिए आप सदैव अपने  पूर्तिकर्ताओं, कर्मचारियों ग्राहकों के संपर्क में रह सकते हैं इंटरनेट  संचार के सर्वाधिक  प्रचलित तीन प्रकार है ई-मेल, इंस्टेंट मैसेजिंग और  डिक्शन ग्रुप

ई-मेल- ई-मेल इलेक्ट्रॉनिक मेल इंटरनेट द्वारा इलेक्ट्रॉनिक सूचना का प्रवाह शुरू में ई-मेल मैं केवल टेक्स्ट संदेश होते थे लेकिन अब इसमें चित्र फोटो और अन्य  प्रकार की फाइलें जोड़ दी गई है पूरे विश्व में लोग एक दूसरे को ई-मेल भेज सकते हैं आप अपने परिवार सहायक कर्मचारी और सलाहकार आदि को ई-मेल कर सकते हैं ई-मेल करने के लिए आपको केवल अपना ई-मेल अकाउंट खोलना और एक ईमेल प्रोग्राम एक्सेस करना होता है 2 सर्वाधिक प्रचलित ईमेल प्रोग्राम है माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक और जीमेल ई-मेल मे 3 आधारभूत  अंग होते हैं हेडर, सूचना और हस्ताक्षर हेडर सबसे पहले नजर आता है

एड्रेस-  भेजने वाले, पाने वाले तथा कॉफी प्राप्त करने वाले का पता होता है  ई-मेल एड्रेस में दो मूल भाग होते हैं पहले भाग में यूज़र का नाम और दूसरे भाग में  डोमेननेम रहता है जिसमें  डोमेन कोड जुड़ा रहता है

विषय- एक लाइन में संदेश का विवरण जिसका उपयोग शीर्षक के रूप में किया जाता है मेल चेक करते समय यह विषय मेल बॉक्स में सामने ही नजर आते हैं

संचार के प्रकार (Types of communication)

अटैचमेंट- ई-मेल प्रोग्राम में डॉक्यूमेंट और वर्कशीट    फाइलों को अटैच करने की सुविधा मिलती है कोई फाइल मैसेज के साथ जुड़ी होती है  तो अटैचमेंट लाइन पर फाइल का नाम मौजूद रहता है

इंस्टेंट मैसेजिंग- ई-मेल का एक प्रकार है जो दो या दो से अधिक लोगों को आपस में संपर्क बनाने की सुविधा प्रदान करता है इंस्टेंट मैसेजिंग का उपयोग करने के लिए इंस्टेंट मैसेजिंग सर्वर में अपने मित्रों की सूची तैयार करके रजिस्टर करनी होती है इंटरनेट से जुड़ने पर एक खास प्रोग्राम आपके मैसेजिंग सर्वर को आपके ऑनलाइन होने की सूचना देता है उसी समय आपके ऑनलाइन होने की सूचना आपके संपर्क को   देता है इसके बाद आपस में सूचनाओं का सीधा आदान प्रदान कर सकते हैं अनेक इंस्टेंट मैसेजिंग प्रोग्राम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग फीचर फाइल शेयरिंग और रिमोट असिस्टेंट की सुविधा भी मिलती है इंस्टेंट मैसेजिंग के काम करने  के तरीके जानने के लिए आप विभिन्न वेबसाइट पर  खोज सकते हैं

संचार के प्रकार

सोशल नेटवर्किंग-इंटरनेट के उपयोग में सबसे तेजी से  होने वाला क्षेत्र सोशल नेटवर्किंग है यानी  व्यक्तिगत रूप से एक दूसरे के साथ  जुड़ना सोशल नेटवर्किंग साइट की  3 मूलभूत  श्रेणियां है दोस्ती करना   यूनाइटिंग फ्रेंड और   सामान्य रुचि कॉमन इंटरेस्ट
यूनाइटिंग साइट का विकास लोगों को जोड़ने के लिए किया गया है जो एक दूसरे  को जानते हो लेकिन संपर्क में ना हो जैसे हाई स्कूल का पुराना दोस्त जिसे अपने पिछले कई वर्षों से नहीं देखा है  रियूनाइटिंग साइड के द्वारा आप सोशल नेटवर्क मैं शामिल होते हैं और अपनी प्रोफाइल सूचना जैसे अपना  उम्र , लिंग, उच्च विद्यालय के समय का नाम और कहीं सारी बातें की जानकारी डालते हैं के सूचना रियूनाइटिंग साइड के सदस्य डेटाबेस में जुड़ जाती है इसके सदस्य किसी का शक्ति के बारे में डेटाबेस से सर्च करने में सक्षम होते हैं अनेक साइट आपके प्रोफाइल  से मैच करने वाले प्रोफाइल जैसे हाई स्कूल कला शब्द के लोगों के जुड़ने पर  आपको सूचित भी करेगी  दो सबसे लोकप्रिय रियूनाइटिंग साइट है क्लासमेट ऑनलाइन और फेसबुक

कॉमन इंटरेस्ट- साइट दो अलग-अलग लेकिन समान रुचि  या हॉबी व्यक्तियों को एक साथ लाती है इसमें आप किसी विशेष रूचि के आधार पर नेटवर्क साइट को सेलेक्ट करते हैं जैसे  यदि आप तस्वीरों को शेयर करना चाहते हैं तो आप   सीप बात मैं कनेक्ट हो सकते हैं यदि आप   व्यवसायिक संपर्कों की खोज कर रहे हैं आप संपदा  मक  पद     मैं शामिल हो सकते हैं यदि आप इसे सूची के समुदाय को तैयार करना चाहते हैं तो आप  डममजनच मैं शामिल हो सकते हैं
किसी भी सोशल नेटवर्किंग साइट या किसी व्यक्ति को कोई सूचना प्रदान करने से पहले आप सावधानीपूर्वक विचार करेंगी आप क्या सूचना दे रहे हैं कोई भी अनुचित अनुचित व्यक्तिगत सूचना न दे

  संचार के प्रकार
Computer
Spread the love